आपका लिंग जितना मोटा होगा – आप उतना ही ज़्यादा सेक्स करेंगे!

आपका लिंग जितना मोटा होगा – आप उतना ही ज़्यादा सेक्स करेंगे!

यह सच है कि मुंबई जैसे महानगर में अकेले रह कर काम कर लेने वाला आदमी पूरी तरह से अलग ही तरह का हो जाता है। यहाँ आप सिर्फ यह भर नहीं सीखते कि कैसे टाइम पर ट्रेन पकड़नी है बल्कि रोज सुबह 6 बजे कैसे उठना है यह भी सीख जाता है आदमी। यहाँ मैंने एक सीधा सा सच जान लिया: हमसे सारी औरतें झूठ बोलती हैं! “छोड़ो, रहने दो, हम अलग हैं”, कमी तुममे नहीं मुझमें है…’सुने हुए लग रहे हैं न ये वाक्य? इसको सही मत मानिए, असली बात तो ये है कि वो आपके लिंग के साइज़ से नाखुश है।

मैं और मेरी गर्लफ्रेंड सीमा 6 महीने तक अफेयर में रहे। हर चीज बढ़िया थी और सेक्स भी करते थे हम। लेकिन कुछ दिनों बाद वो सेक्स के लिए मना करने लगी, और उसके बाद उसने कह दिया कि हम दोनों में कुछ मेल नहीं है और वो मुझसे शादी नहीं करेगी। मैंने उसे वापस पाने की कितनी कोशिश की। मैं सोचता था कमी मुझमें ही है उसमें नहीं, और फिर मुझे पता चला कि वो एक लोकल जिम के ट्रेनर के साथ फँस गई है। वो जिम का ट्रेनर बड़ा आकर्षक था और कई लड़कियों से अफेयर कर चुका था।

फिर मैं मुंबई आ गया, जब मैं चला गया तब उसे पता चला होगा कि उसने क्या खो दिया। मुंबई में मुझे कुछ ऐसे साथी मिले जो शाम को एक दूसरे की ज़िंदगी की दास्तानें सुनाया करते थे। उनमें से एक ने अपनी प्रेम कथाओं का चिट्ठा खोल दिया। उसने बताया कि 20 का होने तक वो कम से कम 20 लड़कियों को पेल चुका था। वो एक साथ दो और तीन लड़कियों के भी मजे ले चुका था। वैसे वो दिखने में बड़ा पढ़ाकू था – दुबला-पतला और चश्मा लगाने वाला। मैंने सोचा फेंकू है और हम लोगों को चमका रहा है। फिर मैंने उसके मोबाइल में कई लड़कियों के मैसेज देखे जो उसको अपनी चूचियों वाली नंगी फोटो भेज रही थीं।

मैंने उससे बात करके उसका सीक्रेट जानने की सोची। और उसने अपनी कहानी मुझे बताई।

पता चला कि पूरा श्रेय उसके लिंग को जाता था, या ठीक बोलूँ तो उसके लिंग की मोटाई को। लड़कियाँ उसको देखते ही गीली हो जाती थीं, और खुद ही उससे ठोकने को कहने लगती थीं। लेकिन हमेशा से ऐसा नहीं था।

वो पहले एक नॉर्मल लड़का ही था, बस दिन रात मोबाइल गेम खेलता रहता था और लड़कियों से तो पहले वो कोई बात ही नहीं करता था। फिर एक बार इंटरनेट पर उसने लिंग बड़ा करने के कैप्सूल खोज निकाले, और उसे ऐसे ही मजे के लिए ट्राय करने की सोची। और आपको क्या लगता है, क्या हुआ होगा – उसका लंड वाकई में बड़ा होने लगा, लंबाई में तो उतना नहीं लेकिन मोटाई बढ़ने लगी 

वो इसके रिज़ल्ट से इतना खुश हो गया कि उसने अपने नए लौड़े को आजमाने का भी फैसला कर लिया। उसने अपने कॉलेज की एक ऐसी लड़की को बुलाया जो थोड़ी आवारा टाइप की थी, और उसने को तबीयत से जबर्दस्त ठोका। लड़की को इतना मजा आया कि उसने पूरे कॉलेज और हॉस्टल की लड़कियों में बड़े लिंग वाले इस पढ़ाकू लड़के की खबर फैला दी। और तब से उसकी ज़िंदगी बदल गई।

वो घर पर चुदाई-पार्टियां करने लगा, और यहाँ तक कि वीडियो भी रिकॉर्ड कर लेता था। उसके बिस्तर पर हमेशा झन्नाट माल ही होता था। लड़कियाँ उसकी हर इच्छा पूरी करती थीं, वे बस ये चाहती थीं कि वो उनको अपने मोटे लौड़े से बार-बार खुश कर दे। उसने तो अपनी काम वाली बाई को भी बजा दिया था और अब वो हर रोज उसके यहाँ जबर्दस्ती ‘झाड़ू-पोंछा’ करने चली आती है’।

मैंने उससे किसी तरह इसका सीक्रेट उगलवा लिया (वैसे वो किसी को भी ये बताने से साफ मना कर देता है) और अब मुझे भी पता चल गया है कि वो ये कैप्सूल कहाँ से ऑर्डर करता है। मैं उसके जैसा नहीं हूँ और मेरे हिसाब से ये जानकारी सब के पास पहुंचनी चाहिए, और आपको तो इससे मदद वाकई में मिलेगी। इसका नाम है Feelbars। आप इसे सिर्फ ऑफिशियल वेबसाइट से ही ऑर्डर कर सकते हैं, ये कहीं और नहीं बेची जाती। ये पूरी तरह से नैचुरल है, इसमें कोई केमिकल नहीं है और आपको इसलिए चिंता की बिल्कुल जरूरत नहीं है 

और फिर मैं मुंबई छोड़कर अपने शहर वापस आ गया और वहाँ एक नई नौकरी ढूंढ ली। इसी के एक महीने के पहले मैंने ये कैप्सूल अपने लिए ऑर्डर कर दिए थे और इन्हें लेने भी लगा था। इसका एक छोटा साइड-इफेक्ट था, इससे हमेशा खड़ा रहने लगा था। मैं जब कैप्सूल नहीं खाता था तब भी पूरे टाइम चुदाई की ही सोचता रहता था…

मैंने एक हफ्ते बाद जब अपना लिंग नापा तो उसकी मोटाई कुछ मिलीमीटर बढ़ गई थी। एक महीने में टोटल 2 सेमी मोटाई बढ़ गई थी! अब फर्क बाहर से ही दिखने लगा था। मैं अब लड़कियों की तलाश में बदहवास हो चुका था! और सबसे बड़ी बात तो ये थी कि मैं सीमा को यह दिखा देना चाहता था कि मैं भी अब कई चीजें करके दिखा सकता था।

और जैसे ही मैं घर आया, और एक दिन जब मेरे घर वाले बाहर गए थे, मैंने घर वापस आने की खुशी में एक पार्टी दी। मैंने अपने सब दोस्तों को बुलाया। मेरी पार्टी में मेरे कॉलेज की क्लास की सबसे सुंदर लड़की नमिता भी आई थी। उसे उसके बॉयफ्रेंड ने कुछ ही दिन पहले छोड़ दिया था और उसे एक सहारे की जरूरत थी।

आश्चर्य की बात ये है कि मुझे उसे पटाने में बिल्कुल टाइम नहीं लगा – जब हर कोई वापस चला गया तो वो मेरे बिस्तर पर थी। हमने सुबह तक ठुकाई की, वो इतनी ज़ोर-ज़ोर से आहें भर रही थी कि हमारे पड़ोसी भी जाग गए होंगे।

और मैं क्या बताऊँ, मैंने तो उस दिन कहर ढा दिया! उस दिन से नमिता, जो अब मेरे बिना रह ही नहीं सकती, मुझे रोज फोन करती है और मिलने के लिए पूछती है। और हर बार यही कहती है कि उसे समझ नहीं आता कि मेरी पहले वाली गर्लफ्रेंड ने मुझे छोड़ कैसे दिया, क्योंकि ऐसे शानदार लौड़े को कौन लड़की छोड़ना चाहेगी!

लेकिन मैं इतने पर ही कहाँ रुकने वाला था, मुझे तब तक चैन नहीं मिलेगा जब तक मैं कम से कम 20 लड़कियों की न ले लूँ।

और जैसा मैंने सोचा था, शहर में सीमा को भी उसकी सहेलियों से मेरे बारे में और मेरी सेक्स पावर का पता चल ही गया। पता चला कि उसके जिम के ट्रेनर ने उसके साथ चीटिंग की और वो काफी दुखी थी और हर चीज को दोबारा पहले जैसा कर देना चाहती थी।

तो यारों, आपको पता होना चाहिए – यदि आपका लिंग छोटा है तो आप चाहे जो कर लें आपको नॉर्मल लड़कियाँ मिल ही नहीं सकती, फिर चाहे आपके मसल कितने ही बढ़िया क्यों न हों या फिर आप कितने भी रोमांटिक क्यों न हों। जोरदार सेक्स तो चाहिए ही – तो अब अपने लिंग को अपग्रेड करें। और आखिर क्यों नहीं, जब ये इतनी आसानी से हो जाता है, बिना ऑपरेशन के, सिर्फ थोड़े Feelbars कैप्सूल ही तो खाने हैं!

अभी ऑर्डर करें

    कमेंट्स

    जस्सी

    दोस्त एक महीने में रिज़ल्ट मिल जाता है क्या? मुझे सख्त जरूरत है

    सुनील

    हाँ, लड़कियों को तो मोटा वाला ही पसंद है, मुझे तो पता है, लंबाई उतनी जरूरी नहीं होती जितनी मोटाई! और लड़कियों को मजा आ जाता है!

    निखिल

    मुंबई में मुझे भी एक ऐसा ही लड़का मिला था जो अपने आप को सेक्स-भगवान कहता था। लेकिन उसने सिर्फ एक लड़की को ही बजाया था, इसलिए ऐसी कहानियों पर भरोसा मत कीजिए

    विष्णु

    एक महीने तक कौन रुकेगा, मेरे साथ तो Feelbars का असर 2 हफ्ते में ही हो गया। 1 सेमी लंबाई और 0.5 सेमी मोटाई, और अगले दो हफ्तों में इतना ही और। तो इस पर शक न करें, आपको रिज़ल्ट जरूर दिखेंगे।

    विशाल

    उस आदमी ने अपनी पार्टियों के वीडियो भी डाले हैं, तो झूठ तो नहीं बोल रहा है! और यदि कैप्सूल वाकई में काम करते हैं तो कोई झूठ क्यों बोलेगा भला?

    महिमा

    मैं भी यही सोचती थी कि साइज़ से ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता, और यह मानती थी कि कैसे किया जाता है ये ज़्यादा खास होता है। और फिर एक बार मैंने एक ऐसे लड़के के साथ सेक्स किया जिसका लिंग बहुत मोटा था। मेरा 10 सेकंड में ही काम हो गया! और अब मैं छोटे पप्पू वाले लड़कों की तरफ तो देखती भी नहीं हूँ।

    दिनेश

    क्या लड़कियों को वाकई में मोटे लौड़ों की चाह होती है? मैं सोचता था कि उनको लंबे ज़्यादा पसंद होते हैं…

    प्रीति

    मेरे पति को Feelbars की सख्त जरूरत है। वो हर चीज नियम से करते हैं, पूरी मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी किसी चीज की तो कमी है कि मेरा पूरा काम नहीं हो पाता। अब मैं समझ पाई हूँ कि ये सब उनके साइज़ के कारण है। मैं ऑर्डर करूंगी।

    सेजल पटेल

    हाय, इस पोस्ट के कारण ही मैंने अपने पति के लिए एक पैकेट लिया। ये एक जादू के समान काम करता है और इनका अब इतना ज़्यादा बड़ा और सख्त खड़ा होता है कि पहले कभी नहीं हुआ।

    अनुराग कुमार

    मैंने एक हफ्ते पहले ये गोलियां खरीदीं और अब मैं इनका आदी जैसा हो गया हूँ हा हा हा! लेकिन मुझे कोई पछतावा नहीं है

    रोहित खट्टर

    मैंने एक पैकेट खरीदा और मैं हर किसी को गारंटी के साथ कह सकता हूँ कि ये जोरदार असर करती हैं। पहले मुझे बिस्तर पर कई समस्याएँ थीं – मेरा खड़ा होता था लेकिन बार-बार बैठ जाता था और मेरा सेक्स भी बहुत कमजोर होता था। अब हर चीज ठीक है। थैंक्स शालू!

    अंकुर

    मुझे भी इन गोलियों के बारे में पता था, मैंने इन्हें विदेश से खरीदा था। ये जोरदार हैं गुरु।

    मोहित रघुवंशी

    मेरी बीवी अब बहुत खुश है! अब वो मुझे पूछती है कि मुझे क्या हुआ और मैं बिस्तर में इतनी देर तक कैसे चल पाता हूँ और मेरा लौड़ा हमेशा एक पत्थर की तरह सख्त क्यों रहता है! यहाँ एक और खुश कस्टमर है। मैंने गोलियों का ऑर्डर दिया जो मुझे बिना किसी झंझट के बड़ी जल्दी ही मिल गईं।

    विशेष जैन

    मैंने गोलियों का ऑर्डर दे दिया और मुझे बड़ी जल्दी बिना किसी झंझट के सीधे मिल गईं।

    शिखा

    मेरे को भी इन गोलियों के बारे में पता है … मेरा पति तो इनको कई दिनों से इस्तेमाल कर रहा है और अब वो मेरी दिन में कई-कई बार लेता है…मैं तो इससे परेशान हो गई हूँ यार 😉

    सुधीर मकवाना

    मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरे जैसे नतीजे हर किसी को मिलेंगे। मैं बड़े आराम से एक घंटे तक सेक्स कर लेता हूँ! मैं तो अचंभे में हूँ कि ये क्या हो गया है! पोस्ट के लिए धन्यवाद मैडम!!!

    मनोहरलाल

    ये गोलियां तो वाकई में सही हैं और मैं अपनी जानूँ के साथ ट्राय करूंगा! मैंने पहला पैकेट पूरा खत्म कर दिया और दूसरा ऑर्डर कर दिया है।

    पुनीत वर्मा

    मैंने इन गोलियों को कौतूहल के कारण आजमाने का फैसला किया। मुझे पता नहीं था कि कोई गोली खड़ा करने में मदद करके सेक्स का समय बढ़ा सकती हैं। मुझे मेरा पैकेट मिलने के बाद मैं सीधे अपनी गर्लफ्रेंड के बाद गया। यदि मैं आपको ये बताऊंगा कि कितनी देर मैने सेक्स किया, तो आपको भरोसा नहीं होगा!

    सिकंदर

    ये चीज कोई नई नहीं है। जिस किसी को ठीक से खड़ा करना है और बिस्तर पर लंबे समय तक चलना है, उसे ये इस्तेमाल करना चाहिए!

    अभी ऑर्डर करें

      Leave a Reply

      Your email address will not be published. Required fields are marked *

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

        अभी आर्डर करे